swachh-bharat-abhiyaan-chhattisgarh

स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहरों में 20 हजार घरेलू शौचालयों का निर्माण


छत्तीसगढ़ में स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) के अंतर्गत पिछले एक वर्ष में 20 हजार से अधिक घरों में शौचालय बनाए गए हैं। पिछले वर्ष (2014) अक्टूबर में मिशन शुरू होने के बाद से विभिन्न नगरीय निकायों में एक हजार 481 सीट सामुदायिक शौचालयों (Community Toilets) एवं दो हजार सीट से अधिक सार्वजनिक शौचालयों (Public Toilets) का निर्माण कराया गया है। मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) के अंतर्गत गठित राज्य स्तरीय उच्चाधिकार समिति की पहली बैठक में यह जानकारी दी गई। बैठक में मुख्य सचिव ने छह महीनों के भीतर प्रदेश के सभी नगर निगमों के 50 फीसदी वार्डों के सभी घरों में डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी नगर निगम आयुक्तों को कहा कि वे शहर के भीतर किसी भी सूरत में कचरा डंप न होने दें। उन्होंने शहर का कचरा इसके लिए निर्धारित जगहों पर ही डंप करने के निर्देश दिए।

उच्चाधिकार समिति की बैठक में स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) के मिशन संचालक डॉ. रोहित यादव ने बताया कि प्रदेश के सभी नगरीय क्षेत्रों में ‘हर घर शौचालय – हर घर नल’ कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसके तहत घरेलू शौचालयों के निर्माण के साथ ही गरीब परिवारों को भागीरथी नल जल योजना के माध्यम से निःशुल्क नल कनेक्शन दिया जा रहा है। जल आपूर्ति के लिए हितग्राही परिवार से हर महीने मात्र 60 रूपए का जल प्रभार लिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) में अगले वर्ष (2016) मार्च तक छत्तीसगढ़ के सभी नगरीय निकायों के 50 प्रतिशत वार्डों में हर घर से डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण का लक्ष्य रखा गया है।

बैठक में डॉ. यादव ने बताया कि प्रदेश के 13 नगर निगमों, 26 नगर पालिकाओं एवं 39 नगर पंचायतों को 23 क्लस्टरों में बांटकर कचरे के निपटान (Solid Waste Management) के लिए 23 संयंत्रों की स्थापना की जाएगी। इसके लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (DPR) तैयार करने का काम चल रहा है। बैठक में नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के प्रमुख सचिव श्री आर.पी. मंडल, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमिताभ जैन, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती रेणु पिल्लै, स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव श्री सुब्रत साहू, महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव श्री दिनेश श्रीवास्तव, स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री विकासशील, वित्त विभाग के सचिव श्री अमित अग्रवाल, आवास एवं पर्यावरण विभाग के सचिव श्री संजय शुक्ला, सामान्य प्रशासन विभाग के विशेष सचिव श्री डी.डी. सिंह, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के उप सचिव डॉ. एम.एल. अग्रवाल, जनसंपर्क विभाग के अपर संचालक श्री सुखदेव कुरेटी, राज्य शहरी विकास अभिकरण के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सौमिल रंजन चौबे और रायपुर नगर निगम के आयुक्त डॉ. सारांश मित्तर सहित बिलासपुर, भिलाई, दुर्ग, राजनांदगांव, जगदलपुर, रायगढ़, अंबिकापुर एवं कोरबा नगर निगम के आयुक्त मौजूद थे।