super-smart-city-bhilai-chhattisgarh

राज्य सरकार की अनूठी पहल : भिलाई नगर को सुपर स्मार्ट सिटी बनाने की तैयारी


केन्द्र सरकार ने रायपुर और बिलासपुर को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की मिशन स्मार्ट सिटी परियोजना में शामिल कर लिया है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मंशा के अनुरूप राज्य सरकार ने एक अनूठी पहल करते हुए छत्तीसगढ़ के ’लघु भारत’ भिलाई नगर को सुपर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने की तैयारी शुरू कर दी है। इस सिलसिले में प्रदेश के नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर सुपर स्मार्ट सिटी के प्रस्ताव पर विचार-विमर्श किया। विभाग के प्रमुख सचिव श्री आर.पी. मंडल और संचालक नगरीय प्रशासन डॉ. रोहित यादव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी बैठक में उपस्थित थे।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मंशा के अनुरूप भिलाई नगर को सुपर स्मार्ट सिटी बनाने के लिए भिलाई के नागरिकों से सुझाव लिए जाएंगे और वहां के स्थानीय निवासियों के विचारों के अनुसार ही इसकी कार्य योजना तैयार की जाएगी। इसके लिए भूमि, संसाधन, केन्द्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन, अमृत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित राज्य परिवर्तित योजनाओं का केन्द्रीयकरण तथा जनभागीदारी सुनिश्चित करते हुए सुपर स्मार्ट सिटी प्लान (एस.एस.सी.पी.) तैयार किया जाएगा। श्री अमर अग्रवाल ने अधिकारियों को सुपर स्मार्ट सिटी प्लान तैयार करने के लिए भारत सरकार द्वारा सूचीबद्ध परामर्श दाताओं से वित्तीय प्रस्ताव आमंत्रित करने के निर्देश दिए। श्री अग्रवाल ने कहा कि प्रस्ताव आमंत्रित करने के लिए तीन दिन के भीतर सूचना जारी कर दी जाए। उन्होंने कहा कि भिलाई नगर के नागरिकों के विचारों के अनुसार ही सुपर स्मार्ट सिटी बनें, इसके लिए चयनित परामर्शदात्री संस्था से अनुबंध किया जाएगा और अनुबंध के बाद भिलाई नगर के श्रमिकों, शिक्षकों, जनप्रतिनिधियों, युवाओं, घरेलू महिलाओं, स्थानीय वकीलों, डॉक्टरों, व्यापारियों, उद्यमियों, वास्तुविदों और समाज के अन्य सभी वर्गों के नागरिकों से सुझाव लिए जाएंगे।
उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भारत में 100 शहरों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के लिए मिशन स्मार्ट सिटी 25 जून 2015 को घोषित किया जा चुका है। इसके प्रथम चरण में छत्तीसगढ़ के दो शहरों रायपुर और बिलासपुर का चयन हुआ है। नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने आज की बैठक में कहा कि भिलाई नगर न केवल छत्तीसगढ़ बल्कि सम्पूर्ण भारत का औद्योगिक शहर और शिक्षा का प्रमुख केन्द्र है। भिलाई एक लघु भारत है, जहां देश के सभी राज्यों के नागरिक निवास करते हैं। इसे ध्यान में रखकर राज्य सरकार की यह मंशा है कि भिलाई को सुपर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किया जाए।
बैठक में विभागीय अधिकारियों ने बताया कि भिलाई नगर में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत प्रत्येक जरूरतमंद घर में शौचालय तथा हर घर में नल कनेक्शन देने का कार्य दु्रत गति से चल रहा है। जिन परिवारों के मकानों में शौचालय बनाने हेतु भूमि नहीं है या तालाब की मेड पर स्थित है, उनके लिए 31 सामुदायिक शौचालयों का निर्माण भी किया जा रहा है। अगले दो साल में भिलाई नगर को खुले में शौचमुक्त शहर के रूप में भी विकसित किया जाएगा। इस दौरान कचरे के वैज्ञानिक रीति से निष्पादन का कार्य भी पूर्ण हो जाएगा। मिशन अमृत के अंतर्गत भिलाई नगर निगम द्वारा हर घर में नल कनेक्शन देने, सेप्टेज मैनेजमेंट तथा वृहद आकार के उद्यानों के निर्माण और सघन वृक्षारोपण के लिए लगभग 271 करोड़ रूपए की कार्य योजना का प्रस्ताव तैयार कर केन्द्र सरकार को भेजा गया है, जिसे जल्द स्वीकृति मिलने की संभावना है। सार्वजनिक यातायात प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए 40 सिटी बसों का परिचालन भी वहां शुरू किया गया है। बहुत जल्द दुर्ग रेल्वे स्टेशन से रायपुर के स्वामी विवेकानंद विमानतल (माना एयरपोर्ट) तक एयरकंडीशन बस सेवा भी शुरू की जाएगी। भिलाई नगर में आंतरिक इलाकों से आवागमन हेतु 30 मिनी बसें भी प्राप्त हो चुकी है, इनका परिचालन भी जल्द शुरू किया जाएगा।
भिलाई नगर को सुपर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के कार्य को दु्रत गति प्रदान करने एवं मानिटरिंग के लिए सुपर स्मार्ट सिटी डायरेक्ट्रेट स्थापित किये जाने के निर्देश भी विभागीय मंत्री जी द्वारा दिये गए। बैठक में नगरीय प्रशासन विभाग के संयुक्त सचिव श्री जितेन्द्र शुक्ला और राज्य शहरी विकास अभिकरण के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सौमिल चौबे भी उपस्थित थे।