nagar-panchayat-work-review-chhattisgarh

नगर पंचायतों के काम काज की समीक्षा : मार्च 2017 तक प्रदेश के सभी शहरों को खुले में शौच मुक्त करने का लक्ष्य


नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल आज यहाँ  नगर पंचायतों के काम काज की समीक्षा की .प्रथम सत्र में पूर्वान्ह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक श्री अग्रवाल ने बस्तर संभाग के 14 और  सरगुजा संभाग  की  18 नगर पंचायतों की समीक्षा की . उन्होंने कहा कि राज्य सरकार  की मंशा है कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत मार्च 2017 तक प्रदेश के सभी नगरीय निकाय खुले में शौच मुक्त हो जाएँ .इसके लिए वे अपने निकाय क्षेत्र में सर्वे के अनुसार शत – प्रतिशत घरों में निजी शौचालयों का निर्माण और जहा निजी शौचालयों का निर्माण संभव नहीं वहां सामुदायिक सह सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण करवाएं.  उन्होंने शौचालय निर्माण की निगरानी मोबाइल वेन के माध्यम से करने के निर्देश भी दिए . बैठक में निर्देश दिए गए कि प्लेसमेंट के माध्यम  से नियुक्त कर्मचारियों की उपस्थिति अनिवार्य रूप से बायोमेट्रिक प्रणाली से की जाये. बायोमेट्रिक उपस्थिति बगैर भुगतान नहीं किया जायेगा .उन्होंने कहा कि निकायों के आतंरिक अन्केक्षणों के बाद बहुत सी वित्तीय अनियमितताएं सामने आ रही हैं जिनका निराकरण जल्द से जल्द करें अन्यथा संबंधितों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी .उन्होंने कहा कि सभी नगर पंचायतें अपने आय –व्यय का अंतर कम करें .उन्होंने बैठक में मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को यह निर्देश भी दिए कि नगर पंचायतों की आय बढाकर उनको आत्म निर्भर बनाने  के लिए कारगर कार्य योजना बनाकर कार्य करें .

बैठक में नगरीय प्रशासन और विकास विभाग के सचिव डॉ.रोहित यादव ,संचालक श्री निरंजन दास  संयुक्त सचिव श्री जितेन्द्र शुक्ल ,संभागीय कार्यालयों के नियुक्त संयुक्त संचालक ,संचालनालय एवं राज्य शहरी विकास अभिकरण के अधिकारी कर्मचारी भी उपस्थित थे.