lok-suraj-abhiyan-suraaj-jagdalpur-chhattisgarh-amar-agrawal

मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने दी 3 करोड़ 32 लाख 76 हजार रुपए के विकास कार्यों की सौगात


लोक सुराज अभियान के तहत जगदलपुर के सिरहासार भवन में आयोजित कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने शहरवासियों को 332.76 लाख रुपए के विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होंने 50 लाख रुपए के ठोस अपशिष्ट प्रबंधन अंतर्गत सेग्रीगेशन यूनिट, अधोसंरचना मद के अंतर्गत विभिन्न वार्डों में सड़क, नाली और पुलिया निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया तथा लोकमान्य तिलक वार्ड, अटल बिहारी बाजपेयी वार्ड, पंडित दीनदयाल वार्ड, दलपत सागर वार्ड, गुरु घासीदास वार्ड, माता संतोषी वार्ड व दंतेश्वरी वार्ड में 102.76 लाख रुपए की लागत से बनाए गए राशन दुकान सह गोदामों का लोकार्पण किया। इस अवसर पर जगदलपुर विधायक एवं छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष श्री संतोष बाफना, महापौर श्री जतीन जायसवाल, नगर निगम के अध्यक्ष श्री शेष नारायण तिवारी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती जबिता मंडावी, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्रीनिवास मद्दी, पूर्व विधायक श्री बैदूराम कश्यप, विभिन्न वार्डों के पार्षदगण एवं मेयर इन कौंसिल के सदस्यगण सहित बड़ी संख्या में नागरिकगण उपस्थित थे। इस अवसर पर मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने कहा कि सूर्य की रोशनी जब सबसे तेज होती है, उस अप्रैल और मई के महीने में पिछले कई वर्षोंे से लोक सुराज अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ बनने के पूर्व बस्तर को अत्यंत पिछड़े क्षेत्र के रुप में जाना जाता था। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह के मुख्यमंत्री बनने के बाद स्थिति अब बहुत बदल गई है। यहां उच्च शिक्षा के लिए बस्तर विश्वविद्यालय की स्थापना की गई। इस क्षेत्र के लोगों को भी बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो, इसके लिए चिकित्सा महाविद्यालय की स्थापना की गई। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी हर युवा को हुनरमंद देखना चाहते हैं। प्रधानमंत्री को जब पता चला कि छत्तीसगढ़ के सुदूर अंचल दंतेवाड़ा में चल रहे लाईवलीहुड काॅलेज में युवाओं को आजीविका के लिए हुनर सिखाने का कार्य कुशलतापूर्व किया जा रहा है, तो प्रधानमंत्री भी स्वयं इस काॅलेज को देखने के लिए उत्सुक हो उठे। उन्होंने कहा कि यह बस्तरवासियों के लिए गौरव की बात है। मंत्री ने कहा कि बस्तर का जो लोहा पहले जापान जाता था, अब जल्द ही यहीं नगरनार में ही इस्पात संयत्र में इस्पात बनेगा। इससे युवाओं को रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। उन्हांेने कहा कि बस्तर में हो रहे विकास का ही परिणाम है कि अब स्थानीय व्यापारी बस्तर में इंडस्ट्रीयल स्टेट के स्थापना की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बस्तर के विकास में सबसे बड़ी बाधा रेलमार्ग का अभाव था। अब यह अभाव भी दूर होने जा रहा है और रावघाट तक अगले वर्ष से रेलगाड़ी चलना प्रारंभ हो जाएगी। उन्होंने कहा कि रावघाट से जगदलपुर तक रेलमार्ग निर्माण के लिए सर्वे का कार्य कर लिया गया है और आने वाले समय में शीघ्र ही इसका निर्माण भी पूरा कर लिया जाएगा। बस्तर सीधे राजधानी से जुड़ने से यहां व्यापारिक गतिविधियों में तेजी आएगी। उन्होेंने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन लोगों के दुःख दूर कर उनके जीवन में खुशहाली लाने का पूरा प्रयास कर रही है, जिससे यहां की जनता को वास्तविक सुराज का अनुभव हो सके। उन्होंनेे बताया कि इस वर्ष सूखा पीडि़त किसानों को 12 सौ करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता दी गई है, वहीं किसानों को दिए गए 600 करोड़ रुपए के कर्ज से छूट दी गई है। इस अवसर पर विधायक श्री संतोष बाफना ने कहा कि जगदलपुर के विकास में मंत्री श्री अमर अग्रवाल का अहम योगदान है। उन्होंने बताया कि यहां मुक्तिधाम के सौन्दर्यीकरण, व्यावसायिक परिसरों के निर्माण सहित अनेक विकास कार्यों की योजनाएं श्री अमर अग्रवाल द्वारा रखी गई हैं। कलेक्टर श्री अमित कटारिया ने कहा कि जगदलपुर एक सुनियोजित रुप से बसाया गया शहर है। इस शहर के विकास के लिए हमेशा सहयोग प्राप्त होता रहा है। उन्होंने कहा कि इस शहर के व्यवस्थित विकास के लिए कार्ययोजना रखी जाएगी।