lok-suraj-abhiyan-durg-chhattisgarh-meeting-16-may-2016

स्वच्छ, सुन्दर और व्यवस्थित शहर बनाने के लिये सार्थक प्रयास करें- श्री अमर अग्रवाल ने अनेक कार्यों को स्वीकृति प्रदान की


नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने आज जिला कार्यालय, दुर्ग के सभाकक्ष में जिले के सभी नगरीय निकायों और संबंधित विभागों के अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। उन्होंने कहा है कि नगरीय निकाय के अधिकारी अपनी जवाबदेही का सुनिश्चित करते हुए स्वच्छ, सुन्दर और व्यवस्थित शहर बनाने के लिये अपनी सार्थक भूमिका का निर्वहन करें। उन्होंने ऐसे व्यवस्था करने को कहा, जिससे ग्रीष्म काल के समय भी पेयजल आपूर्ति के संबंध में किसी प्रकार की दिक्कत न हों। इसी तरह उन्होंने समुचित कर के माध्यम से नगरीय निकायों को आर्थिक रूप से सक्षम एवं स्वालंबी बनने पर जोर दिया, जिससे नगरीय निकायों को राज्य शासन द्वारा मिलने वाली राशि का उपयोग वहां के विकास कार्यों के लिये किया जा सके। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमति रमशीला साहू, संसदीय सचिव श्री लाभचंद बाफना, विधायकगण सर्वश्री विद्यारतन भसीन, सांवला डाहरे, अरूण वोरा, दुर्ग नगर निगम की महापौर श्रीमती चन्द्रिका चन्द्राकर, महापौर भिलाई श्री देवेन्द्र यादव, जिले के सभी नगरीय निकायों के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सभापतिगण, संचालक नगर प्रशासन श्री रोहित यादव, कलेक्टर श्रीमती आर. शंगीता, पुलिस अधीक्षक श्री मयंक श्रीवास्तव सहित सभी नगरीय निकायों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

श्री अग्रवाल ने नगरीय निकायों में चल रहे विकास कार्यों के साथ भविष्य में किये जाने वाले कार्यों की रूप-रेखा की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये हैं। उन्होंने नगरीय निकायों में स्वीकृत विकास कार्यों, निर्माण कार्यों की प्रगति और अप्रारंभ कार्यों तथा अपूर्ण कार्यों के साथ अधोसंरचना के निर्माण कार्यों, पेयजल व्यवस्था, साफ-सफाई तथा निर्मित शौचालयों की जानकारी, लक्ष्य के विरूद्ध राजस्व वसूली, विभिन्न मदों में कर वसूली, आय-व्यय के स्त्रोतों और खर्चों की जानकारी, कर्मचारियों के वेतन भुगतान, उनके जीपीएफ कटौती व जमा राशि, भवन अनुज्ञा से संबंधित लंबित प्रकरणों की जानकारी लेकर अधिकारियों को जवाबदारीपूर्वक कार्य करने के निर्देश दिये हैं।

नगरीय मंत्री ने समीक्षा बैठक के दौरान जहां नगर निगम भिलाई में ऑडिटोरियम और निगम का नया कार्यालय भवन बनाने के प्रस्ताव को स्वीकृति देने की बात कही, वहीं दुर्ग नगर निगम क्षेत्र में 6 करोड़ रूपये की राशि से सड़कों के डामरीकरण कराये जाने की स्वीकृति भी प्रदान की। उन्होंने इसी तरह अन्य नगरीय निकायों के प्रस्तावों को भी स्वीकृति प्रदान करने की मौखिक स्वीकृति दी। भिलाई को सुपर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने के दृष्टि से यहां कंसलटेन्ट नियुक्त करने के निर्देश दिए। इसी तरह दुर्ग और भिलाई में अमृत मिशन योजना के अतंर्गत पेयजल आपूर्ति के नये चरण को संचालित किया जायेगा। इसके अंतर्गत भिलाई में 2 सौ 41 करोड़ रूपये की लागत से पेयजल आपूर्ति की योजना बनाई गयी है जो जल आपूर्ति योजना का दूसरा चरण है। इसका टेंडर शीघ्र किया जा रहा है। दुर्ग नगर निगम क्षेत्र में भी नलों के माध्यम से शेष छूटे घरों में पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था की जायेगी। 6 माह में इसका सर्वेक्षण किया जायेगा।

श्री अग्रवाल ने कहा कि कुछ नगरीय क्षेत्रों में उनके आय का पर्याप्त स्त्रोत होने के उपरांत भी नगरीय निकायों के मद से बिजली बिल का भुगतान नहीं किया गया है, इस कारण इसका व्यय राज्य शासन को वहन करना पड़ा है। उन्होंने इस बात पर अप्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि भविष्य में ऐसी लापरवाहियों से बचने की सलाह दी। उन्होंने यह भी कहा कि सभी नगरीय निकायों ऑडिट आपत्तियों का न केवल निराकरण करें बल्कि ऐसे उपाय सुनिश्चित करें जिससे ऐसी त्रुटियों की पुनरावृत्ति न हो।