kurud-chhattisgarh-odf-declared

स्वच्छ भारत मिशन के तहत कुरूद नगर पंचायत भी ओडीएफ घोषित


नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल और पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चंद्राकर ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत आज धमतरी जिले में नगर पंचायत कुरूद को खुले में शौच मुक्त(ओ.डी..एफ.) घोषित किया। मंत्री द्वय ने नगर पंचायत के प्रतिनिधियों को इस उपलब्धि का प्रशस्ति पत्र भी सौंपा। इस मौके पर आयोजित समारोह में दोनों मंत्रियों ने कुरूद क्षेत्र के लिए लगभग 17 करोड़ 75 लाख रूपए के निर्माण कार्यों का लोकार्पण , भूमिपूजन और शिलान्यास किया। इनमें से पूर्ण हो चुके चार निर्माण कार्यों का लोकार्पण हुआ, जिनकी लागत लगभग पांच करोड़ 50 लाख रूपए है। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर नगर पंचायत कुरूद में ओपन जिम, सूर्य नमस्कार चबूतरा निर्माण, काली मंदिर से भरदा नाला निर्माण और मंगल भवन निर्माण की स्वीकृति देने की घोषणा की। मंत्री द्वय ने कार्यक्रम में वंदेमातरम् सेवा समिति की ओर से हरी झण्डी दिखाकर एक एम्बुलेंस वाहन का लोकार्पण किया।
नगरीय विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने कार्यक्रम में जनता को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार सिर्फ अवसर और संसाधन देती है, जबकि जनता ही समाज में परिवर्तन लाती है। पंचायत मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में सरकार समाज के सभी वर्गों के विकास के लिए काम कर रही है। डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश लगातार विकास के शिखर की ओर बढ़ रहा है।     कुरूद के पुराना कृषि मंडी परिसर में आयोजित कार्यक्रम में विशाल जनसमूह को श्री अग्रवाल ने नगर पंचायत कुरूद के ओडीएफ होने की बधाई देते हुए क्षेत्र के नागरिक, ग्रामीण, जनप्रतिनिधि, ग्रीन आर्मी तथा इससे जुड़े हुए लोगों को शुभकामनाएं दीं। समारोह में मुख्य अतिथि की आसंदी से अपने उद्बोधन में श्री अग्रवाल ने कहा कि समाज में बड़े परिवर्तन के लिए लोगों को ही जागरूक होकर खड़ा होना पड़ेगा तभी विकास सम्भव है। देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से स्वच्छ भारत मिशन की घोषणा की थी कि 2019 तक पूरे भारत को स्वच्छ बनाना है, उसी आव्हान पर प्रदेश की जनता संकल्पित होकर चल पड़ी है। उन्होंने पंचायत मंत्री श्री चंद्राकर की प्रशंसा करते हुए कहा कि क्षेत्र के निरंतर विकास के लिए जूझने की उनमें अद्भुत क्षमता और जुनूनियत है और यही विशेषता प्रत्येक जनप्रतिनिधि में होनी चाहिए, तभी प्रगति की कल्पनाएं मूर्तरूप लेने में सफल होंगी। श्री अग्रवाल ने कहा कि कुरूद क्षेत्र में स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, कौशल विकास सहित विभिन्न मामलों में बेहतर कार्य हो रहे जिससे पूरे प्रदेश में इसके विकास की तुलना महानगरों की तर्ज पर होती है। उन्होंने नगर पंचायत के प्रत्येक घर में गीला कचरा और सूखा कचरा के लिए अलग-अलग डस्टबिन प्रदान करने की भी बात कही।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री चंद्राकर ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पहली बार प्रदेश को विश्वसनीय और स्थायित्व नेतृत्व दिया। उन्होंने उपस्थित लोगों से अपील करते हुए कहा कि स्वच्छ भारत मिशन अभियान को शौचालय निर्माण तक ही सीमित नहीं रखें, बल्कि इसे सामुदायिक सोच को बदलने का अभियान बनाएं। उन्होंने बताया कि इस अभियान के मात्र दो साल के भीतर ही प्रदेश में स्वच्छता के कव्हरेज का प्रतिशत 64 हो गया है जिससे यह प्रतीत होता है कि कुरीतियों की दूषित परम्पराओं को समाप्त कर समाज में नवाचार लाने लोगों में जज्बा पैदा हो रहा है। इस अवसर पर दोनों मंत्री ने शौचालय निर्माण एवं स्वच्छता से जुडे़ ग्रीन आर्मी, विभिन्न संगठनों तथा ग्राम पंचायतों के सरपंच-पंचों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। समारोह में धमतरी जिला पंचायत अध्यक्ष श्री रघुनंदन साहू, कुरूद नगर पंचायत के अध्यक्ष श्री रविकांत चंद्राकर, जनपद पंचायत कुरूद की अध्यक्ष श्रीमती पूर्णिमा साहू, जनपद पंचायत मगरलोड के उपाध्यक्ष श्री वीरेन्द्र साहू, पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष द्वय श्री निरंजन सिन्हा एवं श्रीमती ज्योति चंद्राकर और धमतरी जिले के कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना सहित बड़ी  संख्या में पंच-सरपंच, ग्रीन आर्मी के सदस्य, विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि और नगरवासी मौजूद थे।