international-business-fair-chhattisgarh-award

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में छत्तीसगढ़ ने लहराया परचम : राज्य के पेवेलियन को विशेष राष्ट्रीय पुरस्कार


केन्द्रीय वित्त और सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अरूण जेटली ने आज नई दिल्ली में भारत के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले के समापन समारोह में छत्तीसगढ़ राज्य के पेवेलियन को विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि एक पखवाड़े तक चले इस मेले में पेवेलियन का निर्माण और संचालन छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी) द्वारा किया गया था। राष्ट्रीय स्तर पर विशेष पुरस्कार मिलने पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह तथा वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने सीएसआईडीसी के अध्यक्ष श्री छगन लाल मुंदड़़ा सहित निगम के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को तथा छत्तीसगढ़ पेवेलियन में स्टाल लगाने वाले विभागों को बधाई दी है। समापन समारोह में आज केन्द्रीय मंत्री श्री अरूण जेटली के हाथों सीएसआईडीसी के प्रबंध संचालक श्री सुनील मिश्रा ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। श्री मिश्रा ने बताया कि भारत के इस वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का आयोजन हर साल 14 नवम्बर से 27 नवम्बर तक होता है। इस वर्ष के मेले की थीम प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ’मेक-इन-इंडिया’ के आव्हान पर आधारित था। मेले में इस महीने की 21 तारीख को छत्तीसगढ़ राज्य दिवस भी मनाया गया। इसमें राज्य के लोक कलाकारों और विभिन्न कला मंडलियों ने छत्तीसगढ़ की कला संस्कृति पर आधारित कार्यक्रमों के जरिए देश-विदेश के हजारों दर्शकों का दिल जीत लिया।
छत्तीसगढ़ पेवेलियन में राज्य सरकार की ओर से कोर सेक्टर के अलावा डाउन स्ट्रीम के उद्योगों जैसे ऑटोमोबाइल एवं आटोमोटिव सहायक उद्योग, कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग, लघु वनोपज और वनौषधि आधारित प्रसंस्करण उद्योग, सौर ऊर्जा, सूचना प्रौद्योगिकी, हस्तशिल्प, जैव प्रोद्योगिकी और फार्मास्यूटिकल आदि पंूजी निवेश की संभावनाओं वाले क्षेत्रों को प्रमुखता से प्रदर्शित किया गया। पेवेलियन में छत्तीसगढ़ सरकार के ऊर्जा, वाणिज्य और उद्योग, खनिज, कृषि और उद्यानिकी, ग्रामोद्योग, पर्यटन और संस्कृति, आदिम जाति विकास, कौशल उन्नयन तथा रोजगार विभाग ने मुख्य रूप से अपनी योजनाओं और गतिविधियों का सचित्र प्रदर्शन किया। ऊर्जा विभाग ने अपने स्टाल में छत्तीसगढ़ विद्युत कम्पनी द्वारा राज्य में बिजली का उत्पादन बढ़ाने और जनहित में संचालित अपनी विभिन्न योजनाओं का प्रदर्शन किया। क्रेडा ने सौर ऊर्जा के क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यो को प्रदर्शित किया। वाणिज्य और उद्योग विभाग ने अपनी नवीन योजनाओं के तहत ईज ऑफ डूइंग बिजनेस तथा प्रदेश सरकार की नवीन उद्योग नीतियों की प्रस्तुति दी।
खनिज साधन विभाग ने राज्य की खनिज सम्पदा और छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ ने बांस मिशन सहित वनवासियों की आर्थिक बेहतरी के लिए हर्बल उत्पादों के मूल्य संवर्धन की दिशा में किए जा रहे प्रयासों को अपने चित्रों और मॉडलों के जरिए प्रदर्शित किया गया। राज्य कौशल उन्नयन मिशन द्वारा प्रदेश में युवाओं के कौशल प्रशिक्षण के लिए संचालित दंतेवाड़ा मॉडल के लाईवलीहुड कॉलेजों को चित्रों और मॉडलों के जरिए दिखाया गया। पर्यटन मंडल ने छत्तीसगढ़ के प्रमुख पर्यटन स्थलों की जानकारी दी। ग्रामोद्योग विभाग ने अपने विभिन्न उपक्रमों के जरिए राज्य में हाथकरघा विकास तथा बेलमेटल शिल्प, काष्ठ शिल्प, लौह शिल्प आदि विधाओं में परम्परागत हस्तशिल्पियों की आर्थिक बेहतरी के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। पुरस्कार वितरण के अवसर पर छत्तीसगढ़ पेवेलियन के प्रभारी अधिकारी श्री ओ.पी. बंजारे भी उपस्थित थे।