dhamtari-amar-agrawal-lok-suraaj-chhattisgarh

धमतरी : आमजनता के चहुंमुखी विकास की यात्रा है लोक सुराज


‘‘आजादी के बाद हमें स्वराज्य तो मिला, लेकिन सुराज स्थापित नहीं हो पाया था। आमजनता के चहुंमुखी विकास के लिए प्रदेश सरकार ने पिछले 12 वर्षों में जो प्रयास किए हैं तथा उसकी तरक्की के लिए विकास की यात्रा की, यही लोक सुराज अभियान का सार है।‘‘ उक्त उद्गार प्रदेश के नगरीय प्रशासन एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने लोक सुराज अभियान के तहत आज शाम न्यू सर्किट हाउस में आयोजित समारोह में दिए। इस अवसर पर उन्होंने नगरपालिक निगम धमतरी में 549.37 लाख रूपए की लागत से 25 कार्यों का लोकार्पण तथा 206.89 लाख रूपए की लागत से 14 निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया। प्रदेश के नगरीय प्रशासन एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अग्रवाल ने आगे कहा कि लोक सुराज अभियान वास्तव में ग्राम सुराज, नगर सुराज तथा विकास यात्रा का मिला-जुला स्वरूप है जिसमें सम्मिलित रूप से शासन-प्रशासन के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की जाती है। उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि राज्य निर्माण के बाद प्रदेश में कभी भूख से मौत नहीं हुई, यह सुराज है। तीस हजार रूपए तक का उपचार अस्पतालों में स्मार्ट कार्ड के जरिए मुफ्त में किया जा रहा है, यह सुराज का उदाहरण है। धमतरी नगर को स्मार्ट सिटी बनाने की दिशा में जो परिवर्तन दिख नजर आ रहे हैं, यह सुराज है। स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि प्रदेश सरकार हर क्षेत्र में विकास और तरक्की के नित नए आयाम गढ़ रहा है। इसके पहले महापौर श्रीमती अर्चना चौबे, धमतरी विधायक श्री गुरूमुख सिंह होरा तथा कलेक्टर श्री भीम सिंह ने जिला तथा धमतरी नगर के विकास पर प्रकाश डाला। समारोह में शहरी आजीविका मिशन सहित विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं के हितग्राहियों को चेक तथा सामग्री का वितरित किया गया। धमतरी प्रवास के दौरान सबसे पहले केबिनेट मंत्री ने शाम पांच बजे स्थानीय इतवारी बाजार स्थित महिला स्वसहायता समूहों द्वारा कागज के ठोंगे सहित अन्य उत्पाद की दुकानों का फीता काटकर अनावरण किया। उन्होंने इस अवसर पर सभी दुकानों में घूमकर महिलाओं द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए अपनी शुभकामनाएं दीं। उक्त कॉम्प्लेक्स में पांच दुकानों का संचालन 12 समूहों द्वारा किया जा रहा है, जो कागज के ठोंगे के अलावा अन्य घरेलू उत्पाद जैसे अचार, पापड़, बड़ी, सूपा, टोकरी, दोना, पत्तल आदि का निर्माण किया जाता है। मंत्री ने एस.एच.जी. की महिलाओं की हौसला अफजाई करते हुए शहर को पॉलीथिन मुक्त बनाने की दिशा में उक्त अभिनव प्रयास की सराहना भी की। कॉम्प्लेक्स में पेपर कटिंग तथा कन्वर्टिंग मशीन एवं स्वयंसेवी संस्था द्वारा स्थापित वॉटर कूलर का लोकार्पण भी केबिनेट मंत्री श्री अग्रवाल द्वारा किया गया। इसके पश्चात् मंत्री श्री अग्रवाल ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने 99 लाख रूपए की लागत से निर्मित राष्ट्रीय आंदोलन के समय के ऐतिहासिक दाण्डी मार्च को निरूपित करती प्रतिमाओं तथा फव्वारों के सौंदर्यीकरण का लोकार्पण किया। ज्ञात हो कि उक्त स्थल पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी सहित विभिन्न स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की आकर्षक प्रतिमाएं स्थापित की गई हैं, जिनके चारों ओर फव्वारे तथा आकर्षक लाइट से साज-सज्जा की गई है। मंत्री ने बटन दबाकर फव्वारे का लोकार्पण किया। इसके अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग पर पावर हाउस कार्यालय के चारों ओर लगभग डेढ़ करोड़ रूपए की लागत से निर्मित भित्तिचित्र तथा फव्वारों का लोकार्पण किया गया। इसके अंतर्गत एक तरफ बस्तर की आदिवासी जीवन शैली पर आधारित आकर्षक बेलमेटल की कलाकृतियां स्थापित की गई हैं, वहीं दूसरी ओर बंगाल की सुप्रसिद्ध पॉट आर्ट शैली का चित्रण किया गया है, जिसमें विभिन्न वस्तुओं पर पारम्परिक डिजाइन उकेरी गई है। साथ ही इन मूर्तियों और कलाकृतियों के चारों ओर नयनाभिराम फव्वारे भी लगाए गए हैं। नगर निगम आयुक्त ने बताया कि शहर अन्य हिस्सों में भी इस तरह के सौंदर्यीकरण किया जाना प्रस्तावित है। इस अवसर पर विधायक श्री गुरूमुख सिंह होरा, महापौर श्रीमती अर्चना चौबे, नगर निगम के सभापति श्री राजेन्द्र शर्मा, पूर्व विधायक श्री इंदर चोपड़ा, पूर्व पालिकाध्यक्ष डॉ. एन.पी. गुप्ता, नगर पंचायत कुरूद के पूर्व अध्यक्ष श्री निरंजन सिन्हा, नगर निगम धमतरी के विभिन्न वार्डों के पार्षद सहित नगर पंचायत भखारा, आमदी, मगरलोड, कुरूद तथा नगरी के अध्यक्ष व पार्षदगण मौजूद थे।