amar-agrawal-suda-mou-chhattisgarh

श्री अमर अग्रवाल की उपस्थिति में सूडा और एनर्जी एफिसियेंट सर्विसेस लिमिटेड के मध्य एमओयू : 9 नगरीय निकायों में लगाए जाएंगे कम बिजली खपत वाले पंप


नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल की उपस्थिति में आज यहां न्यू सर्किट हाऊस में राज्य शहरी विकास अभिकरण(सूडा) और केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय के सार्वजनिक उपक्रम ईईएसएल(एनर्जी एफिसियेंट सर्विसेस लिमिटेड) के बीज एमओयू किया गया। एमओयू में सूडा की तरफ से नगरीय प्रशासन के संचालक श्री निरंजन दास और ईईएसएल की तरफ से अपर मुख्य प्रबंधक रजनीश राणा ने हस्ताक्षर किए। इस एमओयू में राज्य के 9 नगरीय निकायों में जल प्रदाय व्यवस्था का एनर्जी ऑडिट किया जाएगा और अक्षम पंपों के स्थान पर ऊर्जा दक्ष पंप लगाए जाएंगे। राज्य के 9नगरीयनिकायोंमेंरायपुर,बिलासपुर,भिलाई,दुर्ग,राजनांदगांव,कोरबा,रायगढ़,अम्बिकापुर और दुर्ग शामिल हैं। नगरीय निकायों में जल प्रदाय व्यवस्था अंतर्गत जल शोधन संयंत्र इंटकवेल और पंप हाउस आदि स्थानों पर उपयोग किये जाने वाले पावर पंपों के लगातार उपयोग से नगरीय निकायों को अत्यधिक ऊर्जा भार वहन करना पड़ता है।

इस एमओयू के अनुसार 3 माह की अवधि में ईईएसएल द्वारा इन्वेस्टमेंट ग्रेड एनर्जी ऑडिट रिपोर्ट राज्य शहरी विकास अभिकरण(सूडा) को सौंपी जाएगी। जिसके आधार पर राज्य शहरी विकास अभिकरण द्वारा पोटेंशियल परियोजनाओं का चयन कर उनके क्रियान्वयन हेतु सूडा,ईईएसएल एवं संबन्धित निकाय के मध्य त्रिपक्षीय एमओयू किया जाएगा।

ऊर्जा दक्ष पंप लगाने के लिए निकाय अथवा राज्य शासन द्वारा ईईएसएल को किसी भी प्रकार का अनुदान नहीं दिया जाएगा। स्टार रेटेड ऊर्जा दक्ष पंपों के लगने के बाद विद्युत देयक में 25 से 40 प्रतिशत तक की बचत भी होगी। इसी बचत की राशि से ईईएसएल को पंपो की लागत राशि 7 वर्षों में वापस लौटाई जाएगी।